पर्यावरण संरक्षण वर्तमान समय की आवश्यकता-स्वामी अखिलेश्वरानंद गिरि

108 कुण्डीय महायज्ञ में 108 पौधों के रोपण का लिया संकल्प

जबलपुर। हरियाली को बढ़ावा देने प्रकृति को हरित श्रृंगार की छटा बिखेरने संत सुरक्षा परिषद के संयोजन में आयोजित श्री श्री अष्ठ लक्षमी 108 कुंडीय महायज्ञ के अवसर पर समाज को एक बेहतरीन तरीके से संदेश के माध्यम से आयोजन समिति ने अलग अलग जगहों पर जाकर पौधों का पौधारोपण का आयोजन महायज्ञ समिति ने किया। इस अवसर पर पीपल, नीम आंवला, आम बेलपत्र, नीम गुलाब, अशोक बरगद, कनेर शमी,जासोन गुरबेल,गिलोय के वृक्ष का पौधारोपण विधिवत किया गया। इस अवसर पर पर्यावरण संरक्षण व संवर्धन के लिए समाज से अपील करते हुए कार्यक्रम में विशेष रूप से पधारे
गोसंवर्धन बोर्ड के अध्यक्ष स्वामी अखिलेश्वरानंद जी ने कहा कि पर्यावरण के संरक्षण की आवश्यकता वर्तमान में है। उन्होंने कहा कि वृहद पौधारोपण के साथ सुरक्षित व सुखद भविष्य की कल्पना की जा सकती है
वर्तमान समय मे मानव जीवन मे स्वास्थ्य की रक्षा हेतु पर्यावरण का संरक्षण वर्तमान समय की आवश्यकता है यज्ञ से देवता प्रसन्न होते है ठीक उसी तरह वृक्षारोपण से प्रकति धरती माता हर्षित होती है।
काली धाम मंदिर के महंत स्वामी काली नंद जी महाराज ने कहा कि पेड़ पौधों में जीवन होता है जो स्वयं जीवित रहते हुए मनुष्य को जीवन प्राणवायु के रूप में देते हैं। समस्त समाज के जागरूक नागरिको को पर्यावरण की रक्षा हेतु अपना सहयोग प्रदान कर पर्यावरण की रक्षा का संकल्प लेना चाहिए
स्वामी प्रकाशानंद गिरी महाराज, महंत स्वामी राजाराम आचार्य जी, स्वामी रामशरण जी ,महंत विजेश गिरी गोस्वामी जी,स्वामी विनेश्वरानंद जी, आचार्य राम छबि जी महाराज,स्वामी रामशरण जी महाराज, मुन्ना पांडेय, डॉ अरुण मिश्रा,चंद्रशेखर शर्मा, अनिल गोल्हानी ने संयुक्त रूप से कहा कि हर व्यक्ति को अपने जन्मदिवस, वैवाहिक जीवन की वर्षगाँठ पर, किसी भी पूण्य कार्य धार्मिक कार्यो,व्रत त्योहार या अपनो की स्मृति में कम से कम एक पौधे का रोपण जरूर करना चाहिए। इस अवसर पर अभी 51 वृक्ष का रोपण किया गया। शेष वृक्ष महायज्ञ के ध्वजारोहण के समय प्रकृति की गोद में रोपित किये जायेंगे। इस अवसर पर कार्यक्रम में उपस्थित सभी पदाघिकारीयो ने भी पौधा रोपण करने पर जोर दिया। साथ ही उन्होंने पर्यावरण की रक्षा हेतु समाज के हर तबके को सहयोग प्रदान करने एवम पर्यावरण की रक्षा का संकल्प लेने की अपील की सभी ने एक स्वर में कहा कि
*पर्यावरण से नाता जोड़ो,
बीमारियों से मुंह मोड़ो*
नर्मदा तट पर होने जा रहे 108 कुण्डी श्री श्री अष्ट लक्षमी गायत्री महायज्ञ के भूमि पूजन अवसर पर प्रकृति को हरियाली की चुनरी ओड़ाने हेतु किये गए वृक्ष रोपण में आचार्य कमलाकांत ,आचार्य सुनील महाराज, मुन्ना पांडेय,
राजकुँवर, प्रमेंद्र जाट, नारायण दुबे,छबि लाल शर्मा, रामस्वरूप पांडेय, अनिल गोल्हानी (प्रदेश अध्यक्ष मानव अधिकार समिति मप्र) रविशंकर मिश्रा, विनोद कुमार पांडेय, चंद्रशेखर शर्मा , सरिता कोस्टा, भगवती कोस्टा, नीतू पटेल,राजकुमार पटेल सहित अनेक लोग उपस्थित रहे।

Hit Voice News Administrator
Sorry! The Author has not filled his profile.
×
Hit Voice News Administrator
Sorry! The Author has not filled his profile.
Latest Posts
  • सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहे युवाओं को कलेक्टर ने बताई संविधान की विशेषताएं
instagram default popup image round
Follow Me
502k 100k 3 month ago
Share