Wednesday, June 7, 2023
HomeLatest NewsLadli Bahna Yojana : कहीं जाने की जरूरत नहीं, फार्म सरल है,...

Ladli Bahna Yojana : कहीं जाने की जरूरत नहीं, फार्म सरल है, वार्ड-गांव में लगेंगे शिविर-CM

परिवार की समग्र आईडी, आधार नंबर और समग्र में दर्ज मोबाइल नंबर जरूरी
भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो जारी कर अपनी महत्वाकांक्षी योजना के बारे में अपील की है। उन्होंने कहा कि ’मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना’ आपके सशक्तिकरण के लिए हमने बनाई है। बहनों के पास पैसा हो, तो उनमें आत्मविश्वास भी होता है और स्वाभिमान का भाव भी जागृत होता है। हमने मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना में हर पात्र बहन के खाते में हर महीने रु.1 हजार डालने का निर्णय लिया है। इस योजना में वे बहनें पात्र हैं, जिनकी आयु 23 से 60 वर्ष के बीच हों, वे विवाहित हों, परिवार की आय ढाई लाख रुपए वार्षिक से कम हो, जिनके परिवार के पास 5 एकड़ से कम जमीन हो। उन्होंने साफ किया कि परिवार का अर्थ है पति, पत्नी और उनके बच्चे। ऐसी पात्र बहनों के खाते में हर महीने एक हजार रूपए आएंगे। बहनों को कोई दिक्कत न हो यह मेरा कर्तव्य है। इसलिए योजना में आवेदन प्रक्रिया को बहुत सरल बनाया गया है। योजना के फॉर्म आपके गांव और शहर के वार्डों में भरवाए जाएंगे।
लोकसेवा केंद्र या कहीं और जाने की जरूरत नहीं
सीएम ने कहा कि आपको लोकसेवा केंद्र या कहीं और जाने की जरूरत नहीं है। आपके गांव में हमारे कर्मचारी आएंगे और फॉर्म भरवाएंगे। इसके लिए 25 मार्च से शिविर लगाए जाएंगे। जब तक सभी बहनों के आवेदन नहीं भर जाते तब तक शिविर लगेंगे। आवेदन में अपना नाम, पति का नाम, मोबाइल नंबर इत्यादि दर्ज कराने के अलावा तीन जरूरी जानकारी बहनों के पास होनी चाहिए। पहला- आपकी या आपके परिवार की समग्र आईडी, दूसरा-आपका आधार नंबर और तीसरा- समग्र में दर्ज आपका मोबाइल नंबर। यह जानकारी यदि बहनों के पास है तो उनको कोई दिक्कत नहीं होगी। आवेदन भरा जाएगा और उसके बाद ई-केवाईसी करवाई जाएगी। ई-केवाईसी के लिए बहनों को कहीं जाने की जरूरत नहीं है।
गांव और शहर के वार्ड में ही ई-केवाईसी होगी
आपके गांव और शहर के वार्ड में ही ई-केवाईसी होगी। जहां कनेक्टिविटी नहीं है, वहां दूसरे गांव या कॉमन सर्विस सेंटर में बहनों को ले जाने की आवश्यकता पड़ती है तो उनके लिए वाहन की व्यवस्था शासन द्वारा की जाएगी। ई-केवाईसी के लिए कोई शुल्क नहीं लगेगा। शासन द्वारा एक ई-केवाईसी के लिए 15 रूपए का भुगतान संबंधित कॉमन सर्विस सेंटर्स को किया जाएगा। यदि किसी बहन से कोई ई-केवाईसी के लिए पैसा मांगता है तो सीएम हेल्पलाइन 181 नंबर पर शिकायत दर्ज करें। ऐसे लोगों को जेल भिजवाया जाएगा। आपको एक भी पैसा देने की जरूरत नहीं है। यदि मेरी बहनों को परेशानी हो, तो मेरे भाई होने का मतलब क्या है। इसलिए निश्चिंत रहिए-परेशान मत होइए। अपने गांव, शहर में ही रहिए। हमारी टीम आपसे संपर्क करेगी, शिविर में लाएगी और सारी औपचारिकता पूरी करवाएगी। ई-केवाईसी इसलिए कराई जा रही है ताकि आपके खाते में ही पैसा जाए। आपको निश्चिंत रहना है। आपकी सारी चिंताएं हमारी हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments