अमित खंपरिया को मंडला पुलिस ने दबोचा, तबीयत बिगड़ी तो अस्पताल ले जाना पड़ा

जबलपुर। जबलपुर में सामाजिक संगठन के अध्यक्ष और समाजसेवी कहलाने वाले अमित खंपरिया को मंडला पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बीते माह में अमित खंपरिया को टोल नाके में अनियमितता के चले मंडला जिले की नैनपुर कोर्ट ने पांच साल की सजा सुनाई थी। सजा के बाद से ही अमित खंपरिया फरार बताया जा रहा था। मंडला पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर स्पेशल सेल का गठन किया था। कई दिनों से अमित खंपरिया पर निगाह रखी जा रही थी। खंपरिया शनिवार को जबलपुर से कटनी होते हुए उमरिया निकला था। मोबाइल लोकेशन के आधार पर मंडला पुलिस ने कटनी-उमरिया रोड पर उसे दबोच लिया। मंडला में ड्रामा
बताया गया कि अमित खंपरिया को गिरफ्तार कर मंडला पुलिस थाने ले गई लेकिन वहां खंपरिया के कई वकील पहुंच गए। उसने दिल में दर्द होने की बात कही। उसे कोर्ट में पेश किया गया, लेकिन वहां भी वह सीने को दबाकर बार-बार बैठ जा रहा था। वकीलों के आग्रह पर कोर्ट ने जिला अस्पताल में भर्ती कराने का निर्देश दिया।
अवैध वसूली का खेल
टोल का ठेका चलाने वाले संजीवनी नगर जबलपुर निवासी अमित खम्परिया, उमेश पांडेय, अनिरुद्ध सिंह चतुर्वेदी, रामजी द्विवेदी व दशरथ तिवारी ने अपने कर्मचारी रखे थे। ये लोग कान्हा टाइगर रिज़र्व में आने वाले लोगों से दो से तीन गुना तक टैक्स वसूली करते थे और फिर मार्कर का उपयोग कर रसीदों में भी छेड़छाड़ कर फर्जी रसीदें बना देते थे। नैनपुर न्यायालय तृतीय अपर सत्र न्यायाधीश डी.आर.अहिरवार ने अमित खम्परिया सहित अन्य को धोखाधड़ी, फर्जीवाड़ा मामले में 5 वर्ष की कठोर कारावास की सजा और जुर्माना लगाया था।

Hit Voice News Administrator
Sorry! The Author has not filled his profile.
×
Hit Voice News Administrator
Sorry! The Author has not filled his profile.
Latest Posts
  • शादी के बाद सुधर गए विराट, ड्रिंक से कर ली तौबा... रातभर जागना भी छोड़ा
  • CM शिवराज ने तय की विकास की दिशा, दिए जरूरी दिशा निर्देश
  • CG : शहीद दिवस पर थिरके कदम... SP, BSF, कांग्रेस नेताओं समेत 300 लोगों को नोटिस
  • स्वास्थ्य, शिक्षा और जीवन स्तर उठाने के प्रयासों पर करें फोकस
instagram default popup image round
Follow Me
502k 100k 3 month ago
Share